Search
  • kuldeepanchal9

घौंसला

इंसान व पक्षी दोनों अपनी संतान के जीवन यापन के लिए कठिन परिश्रम और बहुत प्यार से घर बनाते हैं दोनों की संतान समयानुसार सब कुछ छोड़कर चले जाते हैं


पक्षी कड़ी मेहनत व हौसलों के साथ घौंसला बनाता है

पक्षी के बच्चे हौसलों की नई उड़ान के साथ घौंसला छोड़ देते हैं


इंसान प्यार व कुछ आशाओं और आकांक्षों के साथ घरौंदा बनाता है

संतान अपनी प्रगति की आशाओं के व सुनहरे भविष्य के सपनों के साथ घरौंदों को रौंद कर सब कुछ छोड़कर चले जाते हैं

यही प्रकृति का अटूट सत्य है


***डॉ पांचाल

🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

1 view0 comments