Search
  • kuldeepanchal9

शिक्षकों की महत्ता

इस महामारी में सम्पूर्ण विश्व के नागरिक परेशान हैं भारत देश में लोकडौन की स्थिति में कुछ विद्वान विद्यालय की फीस माफ करवाना चाहते हैं

मैं पूछना चाहता हूँ कि


क्या सरकार ने बिजली बिल माफ किया?


क्या बैंक लोन की किश्त नहीं मांगेंगे ?


क्या स्वास्थ्य बीमा वाले प्रीमियम नहीं मांगेंगे


क्या मकान मालिक किराया नहीं मांगेंगे


क्या कार, बाइक आदि का प्रीमियम माफ होगा


क्या कंपनियों ने टी वी रिचार्ज को माफ किया


क्या मोबाइल रिचार्ज को माफ किया

आदि बहुत से उदाहरण हैं

तो फिर

विद्यालय या शिक्षकों ने ऐसा कौन सा अपराध कर दिया कि विद्यालय में फीस माफ हो और शिक्षकों को वेतन भी न मिले


शिक्षक विद्यार्थियों को बोलना,चलना,दौड़ना,खाना, पीना, पढ़ना,खेलना इत्यादि सिखाकर शारीरिक, मानसिक व आध्यात्मिक विकास करते हैं जिससे मानव का पूर्ण विकास होता है जिससे समाज व सुदृढ़ देश का निर्माण होता है

शिक्षक भी अन्य की तरह मानव है उसका भी देश में कुछ अधिकार है

अतः फीस माफी से पूर्व कुछ सोचकर प्रश्नचिन्ह लगाने चाहिये


*** डॉ पाँचाल

19 views0 comments