Search
  • kuldeepanchal9

व्यक्तित्व निर्माण

Updated: Jun 1

डॉक्टर के यहाँ चोट का उपचार हो जाता है लेकिन दिल पर लगी चोट का नहीं

नाई के यहाँ सिर का बोझ कम होता है मन का बोझ नहीं

ज्योतिषी भाग्य का निर्माण नहीं करते लेकिन एक सांत्वना मिलती है

मन्दिर में किसी भी समस्या का समाधान नहीं होता लेकिन मन मस्तिष्क को शांति मिलती है


लेकिन विद्यालय में एक मानव के व्यक्तित्व का निर्माण होता है

जो समाज व देश को सुदृढ़ बनाता है


अतः शिक्षकों की महत्ता को स्वीकार कीजिये


*** डॉ पाँचाल



22 views0 comments