Search
  • kuldeepanchal9

मित्र व् शत्रु में भेद

जो व्यक्ति मित्र व् शत्रु में भेद न कर सके, कौन प्रशंसा में दूध के साथ आपको विष पिला रहा हो, कौन कटु वचन बोलकर आपको भविष्य में अमृत पिलाना चाह रहा हो ? यदि व्यक्ति अपने मन मस्तिष्क से इनमें भेद न कर सके तो वह व्यक्ति महामूर्ख की श्रेणी में आता है

*** डॉ पांचाल



41 views0 comments