Search
  • kuldeepanchal9

मनुष्य और वृक्ष

दोनों में थोड़ी -थोड़ी समानता है, दोनों का अच्छे प्रकार से पालन पोषण किया जाता है, दोनों ही दूसरों के काम आते हैं, दोनों समाज के लिए भी जीते हैं,दोनों ही अपने - अपने अंग दान करते हैं,मनुष्य रक्त दान करता हैं वृक्ष अपने फल, फूल व् अपनी शाखाएं दान करता है, आयु बढ़ने के साथ- साथ दोनों दूसरों को शरण, छाया व् सहारा प्रदान करते हैं, वृक्ष की शाखाओं की समिधा बन जाती हैं जो मनुष्य के अंतिम संस्कार में उपयोग की जाती हैं उसी प्रकार मनुष्य भी वृक्ष की तरह सृष्टि के नियमों के अनुसार वृक्ष की शाखाओं के साथ स्वाहा हो जाता है |

*** डॉ पांचाल



32 views0 comments