Search
  • kuldeepanchal9

मन मस्तिष्क में दूसरे मनुष्य की परख

सभी भौतिक वस्तुओं का विनाश निश्चित होता है | जिन पुस्तकों के द्वारा एक मनुष्य का भविष्य बनता है या जिन पुस्तकों व् लेखन सामग्री (कॉपी) के आधार पर भविष्य की नीवं रखी जाती है समय पूर्ण होने पर पुरानी पुस्तकों व् समाचार पत्रों की रद्दी को भी मनुष्य तराजू में तोल कर देता है ऐसी मानसिकता होने पर यदि कोई आपकी परख करता है यदि आपके विश्वास, योग्यता व् व्यवहार को अपने मन मस्तिष्क में विचारता या तोलता है तो वह गलत नहीं है |

***डॉ पांचाल


#trendsetterdrpanchal#examinetheperson#oldbooks#oldnewspaper#wastepapers#weighmachine

7 views0 comments