Search
  • kuldeepanchal9

मनुष्य के भिन्न भिन्न रूप

जीवन की इस भाग दौड़ व् इस सृष्टि में मनुष्य एक ही दिन में सबसे अधिक रंग बदलने वाला प्राणी है तात्पर्य दिन में कई अवसरों पर उसका चेहरा रंग बदलता है जैसे घर में पति/पत्नी के समक्ष कुछ और, संतान के समक्ष कुछ और, समाज में कुछ और ,कर्म क्षेत्र में अधिकारी के समक्ष अलग व् अपने अधीनस्थ के समक्ष कुछ और | मनुष्य जीवन में रंग बदलना आवश्यक है क्यूंकि अलग अलग चेहरे से जीवन यापन करना उसकी विवशता है |

*** डॉ पांचाल

#trendsetterdrpanchal#differentfaces#

28 views0 comments

Recent Posts

See All