Search
  • kuldeepanchal9

प्रेम व् प्यास

मानव जीवन में समय समय पर घटनाएँ होती रहती हैं जिससे उसको कभी विकार मिलता है, कभी चिंता मिलती है, कभी शोक और कभी आनंद | कभी उसको मनचाहा नहीं मिल पाता मनुष्य के जीवन में ऐसे क्षण भी आते हैं जब वह प्रेम की तलाश में रहता है लेकिन उसे प्रेम नहीं मिल पाता | वह एक प्यासे की तरह कुंए की तलाश करता रहता है लेकिन उसे कुआँ नहीं मिल पाता | समय चक्र ऐसा होता है कि जिस कुंए को तलाश रहा होता है वह कुआँ स्वयं उसके सामने होता हैं लेकिन वह अपनी प्यास को अपने आसुंओ से बुझाता हैं |

*** डॉ पांचाल


#trendsetterdrpanchal#thirstyman#mensearchinglove#findinglove#thirstyforloveandwater

52 views0 comments