Search
  • kuldeepanchal9

पर्यावरण

ईश्वर जीव और प्रकृति से सृष्टि कर्म चलता है प्रकृति अनमोल है | पर्यावरण दूषित हो रहा है दूसरी तरफ मानव चंद्रमा व् अन्य ग्रहों पर अपना पग रखना चाह रहा है हम सबने प्रकृति में स्थित पर्यावरण को जाने अनजाने में दूषित किया हुआ है अत: हमारा कर्तव्य है कि पर्यावरण को शुद्ध करके प्रकृति व् जीव को भी शुद्ध किया जाये जिससे प्रत्येक जीव को लाभ हो सके कुछ पंक्तियों के साथ

चंद्रमा मानव चरण से चूर होता जा रहा है, विश्व का हर बिंदु ही कम दूर होता जा रहा है,

किन्तु क्या बतला सकेगा आज का युग, कि मानव से मानव क्यूँ दूर होता जा रहा है

*** डॉ पांचाल

#पर्यावरण#कर्तव्य#चन्द्रमा #प्रकृति



38 views0 comments