Search
  • kuldeepanchal9

ज्ञानी व अज्ञानी

मानव विद्यालय में पुस्तकें पढ़ता है तरह तरह की पुस्तकें पढ़कर ज्ञानवान बनता है ग्रंथों व शास्त्रों का अध्य्यन करके विद्वान की श्रेणी में आता है

दूसरे मानव को समझने व पढ़ने का अथक प्रयास करता है


लेकिन स्वयं को समझने व पढ़ने में सक्षम नहीं हो पाता जिससे वह अज्ञानी की श्रेणी में आता है

*** डॉ पाँचाल

3 views0 comments