Search
  • kuldeepanchal9

जीवन दुष्कर बनाना

हम कभी भी किसी भी अपरिचित,दुष्ट,चोर व् कामी व्यक्ति को अपने घर में प्रवेश नहीं होने देते लेकिन मन मस्तिष्क में दूसरों के प्रति घृणा,छल कपट, धोखा व् ईर्ष्या को जन्म देकर अपना जीवन ही दुष्कर बनाते हैं |

*** डॉ पांचाल



#trendsetterdrpanchal#conspiracy#cheating

42 views0 comments