top of page
Search
  • kuldeepanchal9

कुत्ते का महत्व

सृष्टि में मनुष्य से पूर्व कुत्ते की प्रजाति को देखा गया है कुत्ता एक सच्चा मित्र होता है कुत्ते का महत्व वही समझ सकता है जिसने कुत्ते को अपने घर में शरण दी है | कुत्ता एक विश्वसनीय,वफादार व् यथार्थ की एक मूर्ति है आज के समय में मनुष्य से अधिक कुत्ते पर विश्वास किया जा सकता है | कुत्ता बिना वेतन के हमारी सुरक्षा करता है रात्रि में एक चौकीदार के रूप में हमारी सुरक्षा के साथ -साथ हमें आकस्मिक घटना के प्रति कुछ सचेत भी करता है यदि हमारे गली मौहल्ले में कुत्ता रहता है अपने भोजन में से कम से कम १० प्रतिशत निवाला कुत्तों को देने का कष्ट करें केवल कुछ निवाला देने से कुत्ता सम्पूर्ण जीवन हमारे प्रति विश्वसनीय व् वफादार रहेगा जब तक वह हमको घायल न करे,उनको डंडा न मारे, न ही उनको दुत्कारें, पता नहीं अगले जन्म में हमें कुत्ते का जन्म मिले क्यूंकि हिन्दू मान्यता के अनुसार मनुष्य ८४ लाख यौनियों में जन्म लेता है जैसा कर्म हम करेंगे वैसा ही हमें फल भी मिलेगा इस जन्म में ही नहीं अपितु जन्म जन्म दर हमें कर्मो का फल भोगना ही ह

*** डॉ पांचाल



17 views0 comments
Post: Blog2_Post
bottom of page