top of page
Search
  • kuldeepanchal9

किनारे आपस में कभी नहीं मिलते

कहते हैं कि नदी व् अथाह समुन्द्र के किनारे साथ साथ रहते हैं लेकिन कभी भी उनका आपस में मिलन नहीं होता ऐसे ही धरती व् गगन का कभी मिलन नहीं होता है, किसी भवन की नीवं के पत्थर का कभी अंतिम तल के पत्थर से कभी मिलन नहीं होता, पुस्तक के प्रथम पन्ने का अंतिम पन्ने से मिलन नहीं होता लेकिन प्रथम व् अंतिम के महत्व को कम नहीं किया जा सकता इसी प्रकार जीवन में हमारे प्रथम व् अंतिम संस्कार को अलग अलग नही किया जा सकता हैं

**** डॉ पांचाल


#riverbank#trendsetterdrpanchal#customs#seabank

15 views0 comments
Post: Blog2_Post
bottom of page