Search
  • kuldeepanchal9

कर्म व् क्रिया

कर्म किसे कहते हैं ? कर्म कृ धातु से बना हैं जिसका अर्थ होता है क्रिया करना | संस्कृत के विद्वानों ने कर्म को इस प्रकार परिभाषित किया हैं यतिक्रियते तत्कर्म अर्थात हो किया जाता हैं उसे कर्म कहते हैं | क्रिया व् कर्म में अंतर है पृथ्वी सूर्य की कल्पना करती है वह क्रिया है नदी बहती है वह क्रिया है | मनुष्य जो नित कर्म करता है वह क्रिया है लेकिन मन के चित से बिना छल कपट के कार्य करता है वह कर्म कहलाता हैं |

*** डॉ पांचाल

#trendsetterdrpanchal#humanactivities#karm#earthactivities#river

8 views0 comments