Search
  • kuldeepanchal9

अपेक्षा दुःख का कारण

अपेक्षा किसी से भी हो जैसे किसी मानव से,किसी देवी देवता से,किसी वस्तु से,किसी धन सम्पदा से, पद से,प्रतिष्ठा से | किसी से अपेक्षा भी दुःख का कारण है कर्म करते रहिये फल की चिंता किये बिना क्यूंकि फल न हमारे अधिकार में था न है न होगा

*** डॉ पांचाल


#expectation

50 views0 comments