Explore
Untitled
 

Subscribe Form

Thanks for submitting!

 
 
 
Search

वर्ष में अपने व् सपने

मनुष्य के जीवन में वर्ष आते जाते रहते हैं | बीते वर्ष किसी के अपने बिछुड़ कर अपनी स्मृति छोड़ जाते हैं किसी के जीवन में नए अपने जुड़ जाते...

अर्जन,सृजन व् विसर्जन

कुछ भी प्राप्त करने के लिए या अर्जन व् सृजन करने में कठिन परिश्रम व् पर्याप्त समय की आवश्यकता होती है | चाहे वह परमात्मा से अंतर्ध्यान...

CLEVER AND INTELLIGENT MAN

Man is becoming very clever and intelligent, he cannot understand the respect, attachment, love and sympathy given by others, but...

चतुर,चालाक व् समझदार मनुष्य

मानव बहुत चतुर, चालाक व् समझदार होता जा रहा है वह दूसरों के द्वारा दिए गये मान सम्मान, आदर, लगाव, प्रेम व् सहानभूतिको नहीं समझ सकता...

अनंत ही अनंत ब्रह्माण्ड,समुन्द्र,सृष्टि,पृथ्वी व् मनुष्य का मन मस्तिष्क

विज्ञान प्रगति के पथ पर अग्रसर है नित नए नए अविष्कार हो रहे हैं लेकिन अभी भी कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ पर अभी भी विज्ञान सफलता प्राप्त...

INFINITIES IN NATURE AND HUMAN MIND

Science is progressing on the path of progress, new inventions are being made all the time, but there are still some areas where science...

Human brain like universe

The human brain is like the universe, only five percent of the human brain works, in the same way we have been able to understand only...

The Way past to future

In the life of a man, new events keep happening all the time, he is able to remember only some incidents, after some time of life,...

Constitution,Provisions & Solution

God writes a constitution in the form of fate in the life of man, in which the activities of the whole life are analyzed, neither we are...

सहन शक्ति की एक सीमा होती है

सहन शक्ति की एक सीमा होती है | पृथ्वी पर दिन प्रतिदिन अत्याचार होते रहते हैं पृथ्वी को भी भूकंप के रूप में कुछ मचलने का अधिकार होता है,...

मनुष्य के खुश रहने के साधन

यह कटु सत्य है कि मनुष्य खुश रहने के लिए नित नये नये उपाय करता है जैसे कि प्रत्येक मनुष्य खुश होने के लिए दुखी है खुश होने के लिए चिंतित...

संविधान,प्रावधान व् समाधान

परमेश्वर मनुष्य के जीवन में भाग्य के रूप में एक संविधान लिखते हैं जिसमें सम्पूर्ण जीवन की गतिविधियाँ का विशलेषण होता है न हम उसको पढनें...

प्रत्यक्ष व् परोक्ष वाणी में भेद

कुछ मानव शब्दों व् वाणी का प्रत्यक्ष रूप से प्रयोग करते हैं उनको समाज की अवहेलना झेलनी पडती है तथा जो मनुष्य परोक्ष रूप से वाणी या शब्दों...

अतीत से भविष्य की ओर

मनुष्य के जीवन में नित नयी नयी घटनाएँ होती रहती हैं वह केवल कुछ घटनाओं को ही स्मरण रख पाता है जीवन के कुछ समय पश्चात जब भी वह अतीत में...

क्रिकेट खेल से सीख

क्रिकेट के खेल से एक पाठ अवश्य सीखा है आप बैटिंग करते हुए तेज बॉलर का सरलता से सामना कर लेते हो लेकिन स्पिनर को खेलते समय जरा सा ध्यान...

आम के पत्तों की महत्ता

आम के पत्ते काटने के बाद कम से कम कुछ दिनों तक ऑक्सीजन छोड़ते रहते हैं। इसलिए इनका उपयोग सभी त्योहारों और समारोहों में हवा को ताजा रखने...

श्री आचार्य रजनीश

आचार्य श्री रजनीश जी ने जो प्रवचन दिए शायद वो अच्छी तरह से सुने ही नहीं गये या प्रयास नहीं किया गया केवल एक सन्देश सम्भोग से समाधि तक...

मनुष्य का मस्तिष्क व् ब्रह्माण्ड

मनुष्य का मस्तिष्क ब्रह्माण्ड की तरह ही है मनुष्य के मस्तिष्क का केवल पांच प्रतिशत हिस्सा ही कार्य करता है उसी प्रकार हम भी केवल...

आम के पत्तों की महत्ता

आम के पत्ते काटने के बाद कम से कम कुछ दिनों तक ऑक्सीजन छोड़ते रहते हैं। इसलिए इनका उपयोग सभी त्योहारों और समारोहों में हवा को ताजा रखने...

सूर्य,चंद्रमा व् तारों की महत्ता

सूर्य, चंद्रमा व् तारों का अपना ही महत्व है जीवन के लिए सभी की आवश्यकता व् महत्ता होती है जीवन में भी इसी तरह सुख दुःख दोनों ही महत्व...