Explore
Untitled
 

Subscribe Form

Thanks for submitting!

 
 
 
Search

शस्त्र चलाना

हिंदुओं के लिए समय बहुत विपरीत चल रहा है भारतीय सुपुत्रियों को व्रत रखना नहीं सिखाकर शस्त्र चलाना सिखाना होगा अन्यथा हिंदुओं का अस्तित्व...

शस्त्रों से सुरक्षा

हिंदु धर्म सहस्त्रों वर्षो से सृष्टि पर विद्यमान है हिन्दू शास्त्रों व शस्त्रों के ज्ञान की प्रशंसा करके उनका विश्व के सभी विद्वानों ने...

लड़ना स्वयं के लिए दुखदायी

मैंने एक बार एक बहुत ही सफल दोस्त को अपने साथ अपना राज साझा करने के लिए कहा वो मुस्कराया और बोला.. “जब मैंने छोटे-छोटे सेनानियों के लिए...

संसार में अकेले

इसमें कोई संदेह नहीं कि संसार की इस भीड़ में मेरे जैसे कुछ मानव अपनी वाणी में कटु शब्दों के प्रयोग करके अकेले हैं लेकिन दूसरे मानव भी...

कटाक्ष

कुछ समय पहले तक मानव एक दूसरे से वाद विवाद के माध्यम से व आमने सामने रहकर अपने मन की बात व कटाक्ष कह लेते थे लेकिन अब दूरियां बढ़ने पर...

जीवन का उद्देश्य

जीवन में अपने वास्तविक उद्देश्य की खोज करने का समय आ गया है आपको क्या लगता है कि आप क्या करने के लिए हैं? आपके जीवन के उद्देश्य को जीना...

जीवन में ऊँचाई

मनुष्य अपने जीवन के हर क्षेत्र में नई नई ऊंचाइयों को छूना चाहता है कुछ विरले ऐसे भी होते हैं जो अपने सगे सम्बन्धी, रिश्तेदार व मित्रगणों...

कैसे कैसे षड्यंत्र

जो इंसान बिकता नहीं उसको व्यूह में फंसा दो जो मिल नहीं सकता उसको बदचलन घोषित कर दो जो किसी के झांसे में नहीं आता उसको बुरा बना दो जो...

सीमा से अधिक

भूख से अधिक भोजन करना अधिक बोलना अधिक निंद्रा लेना अधिक आराम करना अधिक कार्य करना अधिक व्यायाम करना तथा हद से अधिक किसी भी अन्य मानव को ...

घौंसला

इंसान व पक्षी दोनों अपनी संतान के जीवन यापन के लिए कठिन परिश्रम और बहुत प्यार से घर बनाते हैं दोनों की संतान समयानुसार सब कुछ छोड़कर चले...

प्रकृति की अनोखी कृति

सूर्य की किरणें को पृथ्वी तक आने में 8 मिनट से अधिक समय लगता है मनुष्य की आशा व आकांक्षाओं रूपी किरणें आयु के 20वें वर्ष में उजागर होती...

मानव दिल

मानव का दिल किसी महासागर की तरह गहरा होता है महासागर में रत्नों का भंडार है जिसमें किसी भी रत्न को ढूंढना बहुत मुश्किल है इसी प्रकार...

Quality or Quantity

इसमें कोई संशय नहीं है कि मेरी मित्र मंडली या मित्रों का क्षेत्र अन्य की अपेक्षा बहुत कम है क्योंकि मुझे मानव की अधिकता नहीं चाहिए मुझे...

ज्ञानी व अज्ञानी

मानव विद्यालय में पुस्तकें पढ़ता है तरह तरह की पुस्तकें पढ़कर ज्ञानवान बनता है ग्रंथों व शास्त्रों का अध्य्यन करके विद्वान की श्रेणी में...

पवित्र प्रेम

पुरुष भी पवित्र प्रेम चाहते हैं।। केवल शरीर की ही इच्छा नही होती जिन्हें, वो दिल के एहसास भी चाहते हैं। हर समय आलिंगन न हो प्रेम में,,...

अजेयता

मेरे अच्छे कर्म करने के पश्चात सबका भला करने के बाद मन में छल कपट न होने के बाद भी दूसरों की घृणा के मध्य मैंने पाया कि मेरे मन मस्तिष्क...

अनुकूल व प्रतिकूल

आज के समय में हम सब चतुर विद्वान हैं रिश्तों व संबंधों में मिठास रखने के लिए कभी कभी समझौता करना पड़ता है जब तक हम दूसरों के अनुकूल कार्य...

सागर व मन

सागर व मन समरूप ही है सागर व मन की गहराई को नापा नहीं जा सकता सागर में यदाकदा तूफान आते रहते हैं तूफान के बाद सागर कुछ शांत हो जाता है मन...

कसौटी

हे परमेश्वर कर्म क्षेत्र में अग्नि पथ पर अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते करते थक सा गया हूँ मानवीय कसौटी पर बिना द्वेष,दुर्भावना व छल कपट...

स्वार्थ व आवश्यकता

कई वर्षो के कटु अनुभव के आधार पर कह सकता हूँ कि जब जब किसी का आपसे कोई भी कैसा भी किसी भी प्रकार का स्वार्थ होगा या आपकी आवश्यकता होगी...