Explore
Untitled
 

Subscribe Form

Thanks for submitting!

 
 
 
Search

अपेक्षा दुःख का कारण

अपेक्षा किसी से भी हो जैसे किसी मानव से,किसी देवी देवता से,किसी वस्तु से,किसी धन सम्पदा से, पद से,प्रतिष्ठा से | किसी से अपेक्षा भी दुःख का कारण है कर्म करते रहिये फल की चिंता किये बिना क्यूंकि फल न हमारे अधिकार में था न है न होगा *** डॉ पांचाल #expectation