top of page
Explore
Untitled
Home: Welcome

Subscribe Form

Thanks for submitting!

Home: Subscribe
Home: Blog Post Gallery
Home: Instagram
Search

दोषारोपण सकारात्मक या नकारात्मक

कभी कभी हमारे विरुद्ध यदि कोई नकारात्मक पहलू को प्राथमिकता देता है या हम पर कुछ दोषारोपण करता है लेकिन परमेश्वर की कृपा वही दोषारोपण ...

मकर सक्रांति

अथर्ववेद के तृतीय कांड के तीसरे सूक्त में एकाष्टका देवी का वर्णन है जिसमें माघ मास की अष्टमी को महत्व दिया गया है, सृष्टि के आदि में न...

कुत्ते का महत्व

सृष्टि में मनुष्य से पूर्व कुत्ते की प्रजाति को देखा गया है कुत्ता एक सच्चा मित्र होता है कुत्ते का महत्व वही समझ सकता है जिसने कुत्ते को...

समय की महत्ता

स्वयं के क़दमों पर चलने में समय तो लगता है लम्बी दूरी तय करने में समय तो लगता है किसी लक्ष्य को पाने में समय तो लगता है किसी के व्यक्तित्व...

हिंदी शब्द म की महत्ता

अति मैं अहंकार को जन्म देना, अति मान देना स्वयं के स्तर को नीचा रखना, अति मोह पागलपन, अति माया की चाह चिंता को दर्शाना, अति मल रोगों को...

मनुष्य के लिये अति प्रेरणादायक सीख

अति प्रेरणादायक जंगल का राजा कहा जाने वाला शेर शिकार के लिए किए गए अपने 75% आक्रमणों में असफल हो जाता है। मतलब वह सौ में 75 बार फेल होता...

सूर्य व् चंद्रमा की महत्ता

मनुष्य प्रकृति की प्रत्येक वस्तु को अपने स्वार्थ के अनुसार महत्व देता है, सूर्य देवता नियम के अनुसार प्रतिदिन उदय व् अस्त होते हैं उदय...

अपराध में दोषी कौन मन या नेत्र ?

मन व् नेत्रों में आत्मिक सम्बन्ध है, मन बहुत ही चंचल है मन किसी के नियंत्रण में नहीं होता सृष्टि से अब तक सभी ऋषि, मुनि,ज्ञानी व विद्वान...

भारतीय बालीवुड के नायक व् नायिका

भारतीय संस्कृति व् सभ्यता में पति पत्नी का रिश्ता प्रेम,विश्वास व् आत्मिक होता है, लेकिन बालीवुड ने इस संस्कृति व् सभ्यता को समाप्त कर...

कुत्ते व् चीता में तुलना

एक बार एक सर्कस के मालिक ने कुत्तों और चीते के बीच तेज दौड़ कराने का निर्णय लिया, लक्ष्य यह देखना था कि सबसे तेज कौन दौड़ता है ? सभी हैरान...

कर्म,परिश्रम, समय व् भाग्य

अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कठिन परिश्रम व् निरंतरता आवश्यक है, कितना भी प्रयत्न करो समय पर ही विजय प्राप्त होती है, विश्व कप...

पश्चाताप,हिमपात,रक्तपात व् उत्पात

जीवन विचित्र घटनाओं से भरा है कब समाप्त हो जाये किसी को ज्ञात नहीं होता ? जीवन में कभी- कभी ऐसी त्रुटि हो जाती है जिसके लिए पश्चाताप की...

पराजित मनुष्यों द्वारा संसार को चलाना

यह संसार पराजित मनुष्यों द्वारा चलाया जा रहा है संसार में केवल १० प्रतिशत मनुष्य ही ऐसे हैं जिनकी आकांक्षाएं , इच्छाएं व् चाह पूरी होती...

कर्म व् परीक्षा

मनुष्य प्रारंभिक जीवन में शिक्षा ग्रहण करता है शिक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए उसे भिन्न भिन्न प्रकार की परीक्षाओं का सामना करना...

सहनशील पुरुष

सम्पूर्ण जीवन में पुरुष को न चाहते हुए भी अपने व् परिवार के पोषण के लिए कुछ कार्य करने होते हैं शाकाहारी होने के पश्चात भी उसे खून के...

मैं उनको दूंढ रहा हूँ भाग 3

स्वतंत्रता की नीव रखने वाले मातादीन वाल्मीकि को मैं दूंढ रहा हूँ 1. *पुर्वोतार भारत में स्वतंत्रता की जोत जलाने वाले मनीराम दीवान व्...

आपत्ति व् विपत्ति

दोनों शब्दों का अर्थ समान हो सकता है लेकिन कुछ भिन्न भी है | मनुष्यों के कर्मो के आधार पर भाग्य बनता है हमारे कर्मो से कभी कभी परमेश्वर...

मैं उनको दूंढ रहा हूँ भाग २

पराक्रमी बुद्धिमान बेताल पचीसी सिंहासन बतीसी इंद्र देवता के दरबार में न्याय करने वाले विक्रम संवत की शुरुआत करने वाले चक्रवर्ती सम्राट ...

मैं उनको दूंढ रहा हूँ

भारत माता वंदन की धरती है अभिनन्दन की धरती हैं ये अर्पण की भूमि है तर्पण की भूमि हैं हर नदी यहाँ गंगा है कण कण शंकर हैं हम जियेंगे और...

लाडला व् दुलारे

बचपन में माता पिता के बहुत लाडले थे सभी के दुलारे थे यौवन की चौखट पर बहुतों के प्यारे थे विवाह के बाद अपने परिवार के राजा थे जीवन की इस...

Home: Blog2
bottom of page